• Sat. Jun 3rd, 2023

शराब तस्करी में सिपाही समेत 5 गिरफ्तार, 2 दारोगा मौके से फरार

  • Home
  • शराब तस्करी में सिपाही समेत 5 गिरफ्तार, 2 दारोगा मौके से फरार

ब्यूरो रिपोर्ट

बिहार में सुशासन बाबू का प्रशासन हमेशा अपना सुर्खी बटोरने में तो महारत हासिल की है ताजा मामला मुजफ्फरपुर से है जहां मुजफ्फरपुर कांटी थाना पुलिस ने बर्दी की आर में शराब तस्करी करते सिपाही समेत 5 माफियाओं को अरेस्ट किया है. शराब की खरीद बिक्री के इस धंधे में दो दारोगा भी शामिल है जो बर्दी को कलंकित करना प्रतीत हो रहा है । हालांकि दोनों दारोगा मौके से फरार हो गए हैं.

फरार दारोगा

शराब तस्करी के खेल में पुलिस की संलिप्तता से हड़कंप मच गया है. बिहार में पूर्ण शराबबंदी है लेकिन शराब के खरीब फरोख्त का धंधा जोरों से चलता है. विपक्ष बार बार आरोप लगाता है कि इसमें बड़े अधिकारी से लेकर पुलिस की मिली भगत है. मुजफ्फरपुर की घटना ने विपक्ष के आरोपों पर कहीं ना कहीं मोहर लगा दी है. दरअसल पुलिस को जानकारी मिली थी कि कांटी थाना क्षेत्र के सदातपुर स्थित दरभंगा मोड़ के पास दो वाहनों से शराब की तस्करी की जा रही है. जब पुलिस ने गाड़ियों को रोककर तलाशी तो उसमें सीतामढ़ी के दो दारोगा और एक सिपाही था. ये लोग शराब लदी गाड़ी को सीतामढ़ी के नानपुर ले जाने की तैयारी में थे

फरार दारोगा

शराब तस्करी में सिपाही समेत 5 गिरफ्तार : बैरिया बस स्टैंड पर जैसे ही यात्री बस पहुंची, जिसमें शराब लदा था, कुछ लोगों ने बस को घेर लिया और फिर दोनों पक्षों के बीच बहस शुरू हो गई. मुजफ्फरपुर के कांटी थाना पुलिस को सीतामढ़ी में कार्यरत एक पुलिस पदाधिकारी ने जानकारी दी थी कि कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा एक यात्री बस को घेर लिया गया है. सूचना के बाद कांटी थाना की पुलिस मौके पर पहुंची. एलटीएफ प्रभारी उमाकांत सिंह ने देखा कि यात्री बस में एक भी आदमी नहीं है. इसी बीच 4 लोग गाड़ी के अंदर प्रवेश कर गए और पुलिसकर्मियों से ही पूछने लगे कि आप लोगों ने गाड़ी को क्यों रोका है?

यात्री बस में की जा रही थी शराब की तस्करी: लोगों की बात सुनकर पुलिस को शक हुआ और तभी सुरक्षाकर्मियों ने उन सभी को धर दबोचा. फिर शक के आधार पर बस की सघन तलाशी ली गई. इस दौरान पुलिस ने पाया कि यात्री बस में शराब लदा है. इतनी भारी मात्रा में अवैध शराब देखकर पुलिस भी हैरान हो गई. शराब बरामदगी की सूचना वरीय अधिकारियों को हुई. इसी दौरान पकड़े गए लोगों की जब पहचान हुई तो कांटी थाने की पुलिस हक्का बक्का रह गई. एक शख्स ने अपना परिचय देते हुए कहा कि मैं सीतामढ़ी पुलिस के तकनीती शाखा में कार्यरत सिपाही अि पटेल हूं.
ऐसे हुआ मामले का खुलासा: पुलिस की तहकीकात आगे बढ़ने लगी और मामले का चौंकाने वाला खुलासा होता चला गया.मुजफ्फरपुर पुलिस ने शराब तस्करी के आरोप में सितामढ़ी जिले के सिपाही अनिमेष पटेल को पकड़ा. जबकि और भी कई नाम सामने आए. सब इंस्पेक्टर रामप्रवेश उरांव और जितेंद्र सुमन समेत कुल दस माफिया शराब रिसीव करने के लिए लिए दरभंगा मोड़ पहुंचे थे लेकिन उससे पहले ही बस को कुछ लोगों ने घेर लिया. जिसके बाद मामले का खुलासा हुआ.

1523 लीटर अवैध शराब बरामद: शराब तस्करी के मामले में पुलिस ने एक एएसआई सहित 9 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. इनमें दो पुलिस पदाधिकारी और एक सिपाही शामिल हैं.. पुलिस ने बताया कि यूपी नंबर की यात्री बस से तकरीबन 1523 लीटर अवैध शराब बरामद हुआ है. बस को जब्त कर लिया गया है. कुल 5 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है. वहीं सब इंस्पेक्टर रामप्रवेश उरांव और जितेंद्र सुमन को भी नामजद किया गया है.

शराब तस्करी के मामले में आरोपी दरोगा को सीतामढ़ी SP मनोज तिवारी ने निलंबित कर विभागीय कारवाई को लेकर विभाग को पत्र भेजा गया है वही SP की कारवाई से पुलिस विभाग में हड़कंप मचा हुआ है ।पूर्व में शराब मामले में गिरफ्तार पुलिस पर भी लटक सकती है कार्रवाई की तलवार

You missed