• Sat. Dec 3rd, 2022

सीतामढ़ी बाला पेंटिंग्स से सुसज्जित होंगे जिला के कस्तूरबा बालिका विद्यालय के बिल्डिंग।

ByFocus News Ab Tak

Nov 7, 2022

अमित कुमार की रिपोर्ट


मॉडल के रूप में दो विद्यालय में बनाया जा रहा पेंटिंग।
छात्राओं के अनुकूल सीखने और मजेदार भौतिक वातावरण के निर्माण के लिये बनाया जा रहा पेंटिंग।


सीतामढ़ी, जिले के कस्तूरबा विद्यालय अब नए लुक में दिखाई देंगे। इसके लिये बिहार शिक्षा परियोजना की पहल पर दो कस्तूरबा विद्यालय के बिल्डिंग में बाला पेंटिंग मॉडल के रूप में कराया जा रहा है। रुन्नीसैदपुर प्रखंड के थुम्मा एवं सुरसंड प्रखंड के बखड़ी स्थित कस्तूरबा बालिका आवासीय विद्यालय में मॉडल के रूप में बिल्डिंग एज लर्निंग ऐड पेंटिंग के माध्यम से कराया जा रहा है।

जिसका उद्देश्य स्कूल की रचना वाल पेंटिंग के माध्यम से बुनियादी ढांचे में छात्राओं के अनुकूल, सीखने और मजेदार भौतिक वातावरण के माध्यम से शिक्षा को और भी आसान बनाना है। विद्यालय के कमरों में वर्ग 6 से 8 तक पढ़ाई जाने वाली विज्ञान व गणित से संबंधित चित्र, सौर मंडल, शरीर के आवश्यकता विटामिन,वसा, खनिजों, कार्बोहाइड्रेट की आवश्यकता व प्राप्ति के श्रोत, वाष्पीकरण, महीनों व सप्ताह के दिनों का नाम, राज्य राजधानी समेत कई ज्ञानवर्धक जानकारी को दिवालो पर पेंट के माध्यम से उकेरा जा रहा है।


–कस्तूरबा बालिका विद्यालय थुम्मा की वार्डेन अंजली प्रिया ने बताया कि डीएम सर् के निर्देश पर ये अभिनव प्रयोग विद्यालय परिसर में कराया जा रहा है, जिससे छात्राये किताबी चीजों को अब दीवारों पर कराई गई पेटिंग के माध्यम से पढ़ाई के अतिरिक्त समय मे भी देख कर सीख पायेंगी। डीईओ अवधेश सिंह, व डीपीओ सर्वशिक्षा अभियान सुभाष कुमार द्वारा इस पेंटिंग को कराने में नियमित मार्गदर्शन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि अथरी के पेंटर दिलीप कुमार द्वारा पिछले 15 दिनों से पेंटिंग का काम किया जा रहा है, जो शिघ्र ही पूरा हों जायेगा।


वही डीपीओ सर्वशिक्षा अभियान सुभाष कुमार ने बताया कि डीएम मुनेश कुमार मीणा द्वारा दिये गए निर्देश में इन दो कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में मॉडल के रूप में बाला पेंटिंग कराई जा रही है। शिघ्र ही जिले में स्थापित अन्य कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में भी पेंटिंग कराई जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed