• Thu. Dec 8th, 2022

सीतामढ़ी-समाहरणालय पर 12अप्रैल को किसानो के प्रदर्शन की तैयारी बैठक।
-ट्रेड यूनियन के 28-29के हडताल का किया समर्थन।
-पावर ग्रिड कार्पोरेशन की धांधली पर रोक लगाने को लेकर और
-रीगा चीनी मिल चालू कराने को लेकर बैठक का आयोजन

ByFocus News Ab Tak

Mar 26, 2022
  • ब्यूरो रिपोर्ट सीतामढ़ी

सीतामढ़ी संयुक्त किसान मोर्चा के राष्ट्रीय आह्वान पर 11से 17अप्रैल के बीच एम एसपीआन्दोलन के तहत सीतामढी समाहरणालय पर 12अप्रैल को किसानो के धरना-प्रदर्शन की तैयारी समिति की बैठक किसान सभा कार्यालय में हुई।अध्यक्षता वरिष्ठ अधिवक्ता रामपदारथ मिश्रा ने की।

बैठक करते मोर्चा के सदस्य


बैठक में 13 सूत्री मांगो को लेकर सीतामढी समाहरणालय पर धरना-प्रदर्शन की सफलता के लिए किसानो के बीच जागरूकताअभियान चलाने का निर्णय लिया गया तथा 28-29 मार्च को ट्रेड यूनियन के भारतबंद का समर्थन किया गया।
मांगो में केन्द्र सरकार से किसान आन्दोलन से किये गये लिखित समझौता पर शीघ्र अमल करने,किसान आन्दोलन मे शहीद सभी किसानो के आश्रितों को मुआबजा भुगतान,लखीमपुर खीरी में किसान हत्या के शाजिसकर्ता केन्द्रीय गृहमंत्री को बर्खास्त करने,किसान आन्दोलन से जुडे सभी मामला वापस लेने के साथ स्थानीय मांगो मे रीगा चीनी मिल चालू कराने तथा किसानो के बकाये का भुगतान,धान की सरकारी खरीद मे अनियमितता की जांच कराने,पावर ग्रिड कार्पोरेशन द्वारा डूमरा प्रखंड के घनी बस्ती धनुषी,मुरादपुर,बाजीतपुर होते सीतामढी के विभिन्न भागों तक वगैर मुआबजा के मनमाने ढंग से400केवीए का तार लगाकर जमीन से वेदखल करने,मेजरगंज प्रखंड के रूसुलपुर से ढेंग तक बागमती मे तटबंध बनाने,वेलंसंड-रून्नीसैदपुर के बीच अर्द्धनिर्मित नाला की उडाही कराने,कृषि बाजार समिति के पुनर्गठन,सहित अन्य सवालों पर समाहरणालय पर भारी जुटान कराने का निर्णय लिया गया।

बैठक में सामिल सदस्य


बैठक के अंत मे जिले के जुझारू भाकपा नेता चन्द्रकेतू शर्मा के असामयिक निधन पर संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से गहरी संवेदना व्यक्त कर दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित किया गया।
बैठक को संयुक्त किसान संघर्ष मोर्चा,किसान सभा,अ भा किसान सभा,जय किसान आन्दोलन के प्रो आनन्द किशोर, जयप्रकाश राय,प्रो दिगम्बर ठाकुर, जलंधर यदुबंशी, चन्द्रदेव मंडल, सुरेश बैठा,रामबाबू सिंह,उमाशंकर सिंह,दिनेशचन्द्र द्विवेदी,मो गयासुद्दीन,संजय कुमार,अशोक कुमार,हंसलाल राय,रणजीत कुमार,’रामा’,सहितअन्य किसान नेताओ ने अपना विचार व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed