• Sun. Nov 27th, 2022

योग शरीर का प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है: डा रंजू

ByFocus News Ab Tak

Jun 21, 2022


सोनबरसा से कमर अख्तर की रिपोर्ट

सीतामढ़ी- योग शरीर का प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है। उक्त बातें पूर्व मंत्री डा रंजू गीता ने कही। उन्होंने कहा कि प्रति दिन सुबह कुछ मिनट योग करती हूं। डा रंजू ने कहा योग का शाब्दिक अर्थ जोड़ना है। योग आत्मा के साथ साथ मनुष्य को सामाजिक तौर पर भी जोड़ कर रखता है। मानसिक शांति एवं संतोष के लिए योग बहुत उपयोगी है। योग करने से पूरे शरीर में रक्त का संचार होता है। जिससे सभी अंग बेहतर कार्य करता है। मन को हल्का रखने के साथ ही शरीर का भी स्थिर रखता है। नियमित रूप से योग करने से हड्डियां व मांसपेशियां मजबूत होती हैं। वजन को कम करने में योग बहुत कारगर है। योग के कई आसन है। भारत में योग को आरंभ से ही स्वस्थ तन और स्वस्थ मन के जीवनशैली के रूप में स्वीकार किया गया है। वहीं मन एवं तन को संतुष्ट रखने में सहयोग करता है। प्राण शक्ति का संचय योग से ही संभव है। कुछ मिनट का योग दिन भर चिंताओं से मुक्ति दिलाता है। योग से आंतरिक खुशी एवं आनंद की अनुभूति होती है।

योग भारत की प्राचीन परम्परा का अमूल्य उपहार: डा सुबोध

जिला के प्रख्यात फिजिशयन डा सुबोध कुमार ने बताया कि योग भारत की प्राचीन परम्परा का एक अमूल्य उपहार है, यह दिमाग और शरीर की एकता का प्रतीक है। मनुष्य और प्रकृति के बीच सामंजस्य है। विचार, संयम और पूर्ति प्रदान करने वाला है तथा स्वास्थ्य के लिए एक समग्र दृष्टिकोण को भी प्रदान करने वाला है। यह व्यायाम के बारे में नहीं है, लेकिन अपने भीतर एकता की भावना, दुनिया और प्रकृति की खोज के विषय में है। हमारी बदलती जीवन- शैली में यह चेतना बनकर, हमें जलवायु परिवर्तन से निपटने में मदद कर सकता है। उन्होंने कहा कि 11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र के 177 सदस्यों द्वारा 21 जून को ” अन्तरराष्ट्रीय योग दिवस ” को मनाने के प्रस्ताव को मंजूरी मिली।
तनाव को दूर करने के लिए योग ही एकमात्र ईलाज है। सिर्फ 15 मिनट योग कर लिया जाए तो इससे शरीर और मन को अनगिनत लाभ पहुंचता है। मन शांत और एकाग्र रहता है। सकारात्मक भाव के कारण मनुष्य का मनोविकास होता है। योग मनोबल बढ़ाता है। योग एवं प्राणायाम हमारे जीवन में सकारात्मक ऊर्जा का संचार करता है। वहीं योग से हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता और उर्जा बढ़ती है। शरीर लचीला बनता है। योग से उदासी और थकान महसूस नही होती और जीवन के प्रति उत्साह बढ़ता है।

योग से व्यक्ति का तनाव दूर एवं मन मस्तिष्क को शांति मिलती है : रेखा

विश्व योग दिवस के अवसर पर विधान पार्षद रेखा कुमारी ने कहा योग से न केवल व्यक्ति का तनाव दूर होता है, बल्कि मन और मस्तिष्क को शांति मिलती है। आत्मा को भी शुद्व करता है। मोटापा से छुटकारा पाने के लिए योग लाभकारी है। आज विश्व में भारत योग गुरू बन चुका है। योग से मनुष्य अपने स्वास्थ्य के साथ मस्तिष्क और मन पर भी नियंत्रण पा सकता है। योग मानसिक विकार से निवारण का भी माध्यम है। हम योग करेंगे तो स्वस्थ रहेंगे, दिमाग और शरीर स्वस्थ रहेगा।

विज्ञापन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *