• Sun. Nov 27th, 2022

पूर्णिया- निगरानी ने कल्याण विभाग के क्लर्क को 28 हजार घुस लेते किया गिरफ्तार

ByFocus News Ab Tak

Jul 5, 2022

ब्यूरो रिपोर्ट

बिहार के पूर्णिया से बड़ी खबर आ रही है जहां पटना से पूर्णिया पहुंची निगरानी विभाग की टीम ने कल्याण विभाग के एक क्लर्क को उस समय रंगे हाथ दबोच लिया जब वे रेप और हत्या मामले में मृतका के पीड़ित भाई से 28 हजार रुपये घूस ले रहा था. घटना मंगलवार की बताई जा रही है । बताने चले की निगरानी बिभाग की ये कारबाई समाहरणालय परिसर में हुई. घूस लेते रंगे हाथों धराये क्लर्क संजय कुमार को गिरफ्तार कर निगरानी की टीम अपने साथ लेकर चली गयी.

विज्ञापन


निगरानी टीम का नेतृत्व कर रहे डीएसपी अरूण पासवान ने बताया कि 27 जुलाई 2020 को सरसी थाना क्षेत्र के बेला घाट निवासी रूपेश कुमार की बहन काजल कुमारी का रेप के बाद हत्या कर दी गयी थी. इस मामले में सरसी थाना कांड संख्या 27 जुलाई 2020 को सरसी थाना में कांड संख्या 105/20 दर्ज हुआ था. इसके बाद मृतका के परिजन को कल्याण विभाग द्वारा मृतका के पीड़ित परिवार को 8.25 लाख रुपये मुआवजा दिया गया था.मृतका के परिवार को विभाग द्वारा 5850 रुपये प्रतिमाह राशि पेंशन के रूप में चालू किया गया. पेंशन का 58 हजार रुपये कल्याण विभाग पर पीड़ित परिवार का बकाया था.

विज्ञापन

इस राशि के भुगतान के लिए मृतका के भाई रूपेश कुमार ने क्लर्क संजय कुमार ने 28 हजार रुपये घूस की मांग की थीबताया गया कि रूपेश कुमार घूस नहीं देने चाहता था. इस वजह से उसने बीते 27 जून को निगरानी विभाग पटना में मामले की लिखित शिकायत की. इस मामले का सत्यापन कराया गया और सत्य पाये जाने के बाद निगरानी की टीम ने जाल बिछा कर क्लर्क संजय कुमार को 28 हजार घूस लेते रंगे हाथ पकड़ लिया.डीएसपी अरूण पासवान ने बताया कि संजय कुमार फिलहाल कल्याण विभाग में प्रभारी हेड क्लर्क है. उन्होंने बताया कि रेप और हत्या मामले में मृतका के परिवार को मुआवजे की रकम मिल चुका था. इसमें पेंशन के बकाये राशि के भुगतान में कल्याण विभाग के क्लर्क द्वारा 28 हजार रुपये घूस की मांग की गयी थी11 सदस्यीय निगरानी की टीम में डीएसपी अरूण कुमार एवं डीएसपी खुर्शीद आलम के अलावा इंस्पेक्टर मिथिलेश कुमार जायसवाल, सत्येन्द्र राम, पुलिस अवर निरीक्षक धर्मवीर सिंह, गणेश कुमार, अविनाश कुमार झा, सहायक अवर निरीक्षक रिषिकेश कुमार, सिपाही मणिकांत सिंह, रणधीर कुमार और शशिकांत सिंह शामिल थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *