June 23, 2021

कोरोना काल में समाज के मशीहा बनें नरेंद्र

बालबोध झा के साथ ब्यूरो रिपोर्ट

सीतामढ़ी – रोगियों की सहायता के लिए, 24×7 कण्ट्रोल रूम से स्वयंसेवकों के कठिन परिश्रम का नतीजा है की अब लोग खुल के कोविद बीमारी के बारे में बात करे रहे और दिन में ६००-७०० कॉल आना आरम्भ हो गया है ! संस्था का उद्देश्य सीतामढ़ी के हर परिवार तक पहुंचने और उनको कोविड महामारी से बचाना है ! कंट्रोल रूम को कोरिया लालपुर, रुन्नी सैदपुर ( प्रखंड ) के मुखिया से फोन आया। एनजीओ के संस्थापक श्री नरेंद्र कुमार और टीम ने कोरिया लालपुर का दौरा किया है,और वहां जाकर गांव के निवासियों के ऑक्सीजन स्तर का परीक्षण भी किया है। हम फिर से यह सुनिश्चित करने के लिए जगह का दौरा करेंगे कि इस महामारी के दौरान पंचायत कम से कम प्रभावित रहे । NGO के द्वारा फ्रंट लाइन कोविड यौद्धा का भी पूर्ण रूप से ध्याना रखना जरुरी है ।हम लोगो को इनकी सुरक्षा सबसे पहले करनी होगी. इसी संदर्भ में डुमरा हॉस्पिटल, डुमरा थाना, मेहसौल थाना, Town थाना सीतामढ़ी में आटोमेटिक सेनेटाइजर डिस्पेंसर लगाया गया साथ ही इन सभी जगहों को सेनेटाइज किया गया। आने वाले दिनों में सभी सरकारी और पब्लिक प्लेस पर सांइटिज़ेर डिस्पेंसर लगाना है ! सभी कोरोरना योद्धा के लिए मास्क , फेस शेड पी पी ई किट इतयादि के व्यवस्था करना है ! संस्था के दौरा ट्रेस, ट्रीट और रीकवर योजना के तहत कार्य किया जा रहा है। इसके तहत ओलीपुर सरंचिया पंचयत में वार्ड लेवल पर मेडिसन किट वितरण किया जा रहा है। साथ ही जीन जिन पंचायतो से फोन आ रहा है हमारी टीम वहां पहुंच कर आवश्यक सामग्रियों को पहुचाने में लगी है ।इस पहल से ग्रमीणों में कोरोना से जंग जितने में मत्त्वपूर्ण भूमिका निभा रहे है और बहुत आशान्वित लगे .ग्रामिणों ने कहा, अगर सभी आर्थिक रूप से सक्षम लोग आगे आये तो इस महामारी को बहुत ही जल्द इसे ख़तम किया जा सकता है ! नरेंद्र कुमार ने कहा सकारात्मकता कभी नहीं मरती है, सकारात्मक रहें और हार न मानें कोविद के युद्ध अपनी आखरी छोर पर है २-३ महीने में ये पूरी तरीके से नियंत्रण में आ जायेगा।