June 23, 2021

कोरोना से जंग लड़ने का काम कर रही है,हिन्दराइज संस्था, डुमरा में बने कंट्रोल रूम में मास्क, सैनिटाइजर, दवा आदि सभी तरह की व्यवस्थाएं :-नरेंंद्र कुमार

कोरोना से जंग लड़ने का काम कर रही है,हिन्दराइज संस्था, डुमरा में बने कंट्रोल रूम में मास्क, सैनिटाइजर, दवा आदि सभी तरह की व्यवस्थाएं हैं:-नरेंंद्र कुमार

व्यूरो रिपोर्ट सीतामढ़ी
सीतामढ़ी -डुमरा के वार्ड नंबर 2 आदर्श मोहल्ला हिंदराइज संस्था द्वारा गुरुवार को प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया. संस्था के संस्थापक नरेंद्र कुमार ने मीडिया कर्मियों को संबोधित करते हुए बताया कि हमारी संस्था 1 मई से सीतामढ़ी जिले में लगातार कोरोना से जंग लड़ने का काम कर रही है. इसको लेकर वृहद पैमाने पर कंट्रोल रूम से लेकर दवा, मास्क, सनेटाइज़र, ऑक्सीमीटर, गाड़ियां आदि की व्यवस्था की है.संस्थापक नरेंद्र कुमार ने बताया कि संस्था के कॉल सेंटर में रोजाना 200 से अधिक लोगों के फोन आ रहे हैं. जिन लोगों को स्वास्थ्य संबंधी परेशानी होती है, उन्हें चिकित्सकों से परामर्श के साथ ही दवा, मास्क आदि उपलब्ध कराया जा रहा है. संस्था के स्वयंसेवक गांव-गांव में जाकर लोगों को जागरूक करने के अलावा उन्हें मास्क, सनेटाइज़र, दवा व सभी ज़रूरी चीजें उपलब्ध करा रहे है.संस्था के डुमरा में बने कंट्रोल रूम में मास्क, सैनिटाइजर, दवा आदि सभी तरह की व्यवस्थाएं हैं. कंट्रोल रूम का नंबर 7303409010 है. इस नंबर पर कोई भी व्यक्ति फोन करता है तो नियंत्रण कक्ष में उनकी समस्या को नोट किया जाता है और इसके बाद संस्था के स्वयंसेवियों को स्थल पर जाकर उनकी मदद के लिए भेजा जाता है. नरेंद्र कुमार ने बताया कि उनकी संस्था आने वाले दिनों में जिले में ऑक्सीजन कौनसीट्रेटर मुहैया कराएगी जिससे आम जनों को काफी फायदा मिलेगा. वर्तमान में संस्था के साथ 70 लोग काम कर रहे हैं. बताया गया कि संस्था द्वारा बीते कुछ दिनों में जिले के डुमरा स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र डुमरा, डुमरा थाना, मेहसौल ओपी, नगर थाना आदि जगहों पर स्वचालित सैनिटाइजर मशीन लगाया गया है.संस्था को 26 जनवरी 2021 को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा कोविड में बेहतर काम करने को लेकर सम्मानित भी किया जा चुका है. गौरतलब है कि यह संस्था पूर्व के दिनों में नोएडा आदि जगहों पर भी काम कर चुकी है तथा वर्तमान में भी काम कर रही है. नरेंद्र कुमार का जन्मस्थल सीतामढ़ी होने के कारण उन्होंने यहां भी अपनी सेवा देने के बारे में सोचा.मौके पर संस्था के सदस्य सुमन झा, बालबोध झा, मुकेश यादव, श्रुति झा, देवचंद्र मिश्र, अमरेंद्र कुमार, राकेश सिंह, सदानंद झा, धीरेंद्र कुमार, बिंदेश्वर साह आदि लोग मौजूद थे.